चेले ने कराए गुरु को भगवान राम के दर्शन

Image title

टोहाना | यदिव्यक्ति सच्चे मन से प्रभु को याद करे तो वे जरूर आते हैं फिर चाहे वह गुरू होकर गोपाल जाट जैसा चेला ही क्यों हो। कुछ ऐसे ही भावों को प्रस्तुति दी वृंदावन से आए रासाचार्य स्वामी लेखराज ओम प्रकाश शर्मा ने। वे यहां दुर्गा मंदिर सभा द्वारा आयोजित सात दिवसीय श्री कृष्ण लीला में भगवान कृष्ण की लीलाओं का सजीव मंचन कर रहे हैं। चौथे दिन की कृष्ण लीला में उन्होंने दिखाया कि किस प्रकार गोपाल ने गुरू के आदेशों का पालन करने के लिए भगवान को भोग लगाए बिना अन्न जल ग्रहण नहीं किया। अंतत: भगवान राम को भोग लगाने आना पड़ा इतना ही नहीं अपने भक्त के कहे अनुसार मां सीता ने भोजन बनाया, हनुमान जी लकड़ी लेकर आए, शत्रुघ्न ने झाडू लगाया, भरत पानी भरकर लाए तथा लक्ष्मण ने सब्जी काटी। लीला के दौरान कलाकारों ने हास्य व्यंगों द्वारा श्रद्धालुओं को खूब गुदगुदाया। इससे पूर्व समाजसेवी राममहन भट्ठे वाले, कर्मवीर पूनिया जसवंत बांसल ने ज्योत जगाकर लीला का शुभारंभ किया तथा राधा कृष्ण को तिलक कर आशीर्वाद लिया। मंदिर समिति की ओर से प्रधान नरेश बांसल, हरी सिंह वर्मा, फतेह चंद गर्ग, अमित सिंगला, नितिन सिंगला, ओपी सैनी बृजमोहन बांसल ने अतिथियों को सम्मानित किया। मंच संचालन राकेश जैन ने किया।

TOHANA.CO.IN - ALL RIGHTS RESERVED - COPYRIGHT © 2013-2015